Let’s travel together.

Hindi Story: मेरी Sad Breakup Story In Hindi

0 243

मेरा नाम राजेश प्रजापति है और ये मेरी Sad Breakup Story है जो मैं आप सबको सुनाने जा रहा हूँ. मैं देखने में ज़्यादा हैंडसम तो नहीं लेकिन एक लडकी थी जिसका नाम आरुषि था जिससे मैं बहुत प्यार करता था और शायद वो भी मुझसे प्यार करती थी..शायद !

ये बात है सितम्बर 2018 के वक़्त की जब मेरी और आरुषि की बाते बहुत कम होने लगी थी. मैंने आरुषि को कई बार पुछा था कि आजकल क्यों तुम मुझसे बात कम करती हो, कोई प्रॉब्लम है क्या…  कोई परेशान कर रहा है क्या …लेकिन आरुषि ने मुझे कुछ नहीं बताया.

फिर एक दिन रात को 11:30  मुझे आरुषि की याद आ रही थी और मैंने सोचा क्यों ना उससे बात कर लू. जब फ़ोन किया तो उसका फ़ोन बिजी था. मुझे बड़ी हैरानी हुई कि इस समय उसका फ़ोन बिजी क्यों है. मैंने 2 – 3 बार try किया लेकिन फिर भी बिजी था. थोड़ी देर बाद आरुषि का फ़ोन आ गया और उसने कहा कि उसकी फ्रेंड नेहा का फ़ोन था और वो कल की कॉलेज असाइनमेंट के बारे में पूछ रही थी.

मुझे थोड़ा शक हो चूका था कि आरुषि किसी और से बात कर रही थी.

इसी तरह एक महीना बीत गया और उस एक महीने में आरुषि मुझसे बहुत कम बाते करने लगी थी. ये बात अब मुझे खटकने लगी थी. एक दिन मैं मार्किट में कुछ लेने के लिए गया था तो मैंने देखा कि आरुषि एक लड़के के साथ रेस्टोरेंट में बैठी हुई है. मेरा शक यकीन में बदल गया लेकिन मैंने उस समय आरुषि को कुछ नहीं कहा, मैंने वहा से चुपके से निकल गया.

घर आ कर मैंने बहुत सोचा कि कही ये मेरा प्यार एक तरफ़ा तो नहीं. मैं बहुत उदास था क्यूंकि उस दिन मैं बहुत अकेला महसूस कर रहा था. अगले ही दिन मैंने आरुषि को फ़ोन किया और उसे मिलने के लिए बुलाया. मैं अंदर ही अंदर जानता था कि ये शायद मेरी आरुषि के साथ आखरी मुलाकात होगी, उस दिन मैं बहुत इमोशनल था | मैं आरुषि को मिला…उसका हाथ पकड़ा और मैंने वो कहा जो मैंने कभी सोचा भी नहीं था.

मैंने आरुषि को कहा “आरुषि..मैंने तुम्हे बहुत प्यार किया था, मेरा वक़्त, मेरा दिल, मेरी फीलिंग्स सब तुम्हारे लिए थी लेकिन तुम शायद बदल गयी हो और इसमें कोई बुराई नहीं, वक़्त के साथ हर इंसान बदल जाता है लेकिन कम से कम मुझसे एक बार बात तो कर के देखि होती. खैर मुझे पता है कि तुम्हारा अफेयर किसी और के साथ भी है और इसीलिए मैं चाहता हू कि तुम मेरे इस बंधन से आज़ाद हो जाओ. मैं नहीं चाहता कि तुम मेरा दिल टूटने के डर से मुझे कुछ ना कह पाओ, इसीलिए आज मैं तुमसे कहने आया हूँ. आरुषि..आज के बाद मैं तुम्हे कभी नहीं मिलूंगा और हाँ…मैं तुम्हे तुम्हारी ज़िन्दगी के लिए शुभकामनाये देता हूँ और चाहता हूँ कि तुम ज़िन्दगी में हमेशा खुश रहो. “

आरुषि बिना कुछ बोले मेरी बाते सुन रही थी, शायद उसे भी पता था कि मुझे उसके अफेयर के बारे में पता चल चूका है. उसकी आँखे नम भी थी लेकिन अब मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता था.

ब्रेक अप के बाद मैंने क्या सीखा: उस दिन मैंने सीखा कि जो तुम्हारी ख़ामोशी नहीं सुन सकता वो तुम्हारे लफ्ज़ भी कभी नहीं सुन सकता.

कभी किसी को इतना प्यार मत करो कि वो तुम्हारी ज़िन्दगी बन जाए. उसके जाने के बाद जीना बहुत मुश्किल हो जाता है.

प्यार ज़िन्दगी में सिर्फ एक बार होता है और इसलिए बड़ी सावधानी से अपना लाइफ पार्टनर चुनिए. गलत लाइफ पार्टनर चुनने से आपके इमोशंस और फीलिंग्स का ही हनन होगा | इस दुनिया में माँ बाप से ज़्यादा कोई तुम्हे प्यार नहीं कर सकता. वो चाहे तुम्हे डांटते हो लेकिन हमेशा तुम्हारा भला ही चाहते है | कभी किसी के साथ टाइम पास के लिए अफेयर मत करो. दुसरो के इमोशंस और फीलिंग्स के साथ खेलने का तुम्हे कोई हक नहीं |

 

लोग वादे तो करते है लेकिन तोड़ भी बड़ी आसानी से देते है, जब दिल टूटता है तो संभालना बड़ा मुश्किल लगता है. ऐसा लगता है कि ज़िन्दगी रोज़ मौत दे रही है.

😍🥺🥺🥺

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.