Let’s travel together.

मरे भूत की प्रेम कहानी | Mare Bhoot ki Prem Kahani | Short Ghost Story

0 5

हेलो दोस्तों कैसे हो आप लोग मेरा नाम Rahul Roy हे आज मै आप लोगो के साथ अपनी एक रियल स्टोरी शेयर करनी चाहती हु| मै थैंक्स बोलना चाहती हु postrealstory.in को जिन्होंने मेरी रियल स्टोरी ऑनलाइन पब्लिश करने के लिए सहमति दी हे | दोस्तों अगर आप लोगो के पास भी कोई रियल स्टोरी हे और ऑनलाइन पब्लिश करना चाहते हो तो आप info@postrealstory.in पर कांटेक्ट करे |

तो चलो दोस्तों स्टार्ट करते हे स्टोरी

कई वर्ष पहले की बात हे एक इंसान का बंगला था जिसमे कुछ अनहोनी घटना के कारण  उस बंगले का मालिक विदेश चला गया और अब वो उसे अच्छे दाम में वो अपना बंगला बेचना चाहता था |
हम लोगों को एक अच्छे से बंगले की Need थी, जो कि इस बंगले को पा कर पूरी हो गई, एक Agent के जरिये हमने उस बंगले को दो करोड़ में खरीद लिया | वो बंगला देखने में काफी सुन्दर था, साथ ही हम लोगों को उस घर का फर्नीचर भी मिल गया | सामने बड़ा सा Garden और बड़ी सी Balcony. सब कुछ अच्छा था|
मैं अपने Family वालों के साथ जल्दी से अच्छा सा मुहर्त देखकर घर Entry कर लिया. उस घर में हम ज्यादा समय टिक नहीं पाए. पहले तो हमने नजर अन्दांज कर दिया,लेकिन जब आत्मिक घटनाएँ ज्यादा होने लगीं तो हम लोगों को घर छोड़ना पड़ा.
दरअसल जिस दिन हम लोग घर में प्रवेश हुए, तो उसी दिन शाम से मेरी बच्ची की तबियत ख़राब रहने लगी. धीरे धीरे घर में आजीब आजीब सी घटनाये होने लगीं, जिसका कोई तर्क न होता. एक दिन मैं शाम को हॉल में बैठ कर पेपर पढ़ रहा था, तभी मेरे सामने वाले कमरे का दरवाजा अपने आप खुल गया. और बंद हो गया. फिर इसके बड़ा मेरे सामने रखी कुर्सी हिलने लगी. और किसी बच्चे की सिटी की आवाज आने लगी |

मैं समझ में नहीं रहा था कि ये आखिर क्या हो रहा है, उस दिन मेरे घर में कोई भी नहीं था, केवल मैं आकेले ही घर पर था | आचानक से मेरी नजर हॉल के कोने पर पड़ी, जहाँ एक औरत खाड़ी हुई थी. जिसके बाल लंबे और खुले हुए थे. वो मेरी ओर बढ़ रही थी. मैं बाहर की भागा, जैसे ही दरवाजे के पास पंहुचा और बाहर का दरवाजा लॉक हो गया. अब मेरे सामने एक आदमी और एक औरत आ गए. उनके पैर जमीन से कुछ उपर उठे हुए थे. उसके चहरे एक दम सफ़ेद थे और आँखों के पास काला था, लेकिन जैसे ही वो दोनों मेरे पास आये वो और भी ज्यादा डरावने हो गए. उनके मुहं से खून टपकने लगा और आंखे बाहर निकल आईं. मैं ये सब देखकर बेहोश हो गया, जब मुझे होश आया तो मेरा परिवार मेरे पास था. मैंने बिना देरी किये सबको वहां से दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया और अपने परिवार के अधत्मिक बाबा को बुलाया और उन्हें सारी बात बताई|

बाबा ने मेरे घर के भूतों को अपनी अंतर शक्ति के जरिये बुलाया और उनसे इस बारे में पूंछा, तो दोनों ने भूतों ने बताया कि ये दोनों आपस में प्यार करते थे, लेकिन घर के मालिक ने हम दोनों को उसी घर में मार दिया और पास वाले मैंदान में दफन कर दिया, तब से हमारी आत्माएं भटक रही हैं.
बाबा ने उन दोनों आत्मायों और किर्या कर्म किया और उन्हें परलोक भेज दिया. अब वो बंगला पूरी तरह से सुरक्षित हो गया था. मैं अपने पुरे परिवार के साथ उस आलीशान घर में आराम से रहता हूँ.

Dosto Kesi lagi meri story.Agar aplogo ko meri story Acchi lagi to Commment mai jarur bataie.

If You have any story and you Want to Share Your True Real StoryThen send me to Post Your Real Story in my website Post Real Story.

Leave A Reply

Your email address will not be published.